मोतिहारी,(रिपोर्ट-अरविन्द कुमार) :हर घर में नल का जल पहुंचाने के लिए सरकार तत्पर है। वर्ष 2020 तक सभी घरो में नल का जल पहुंचा दिया जायेगा। इस दिशा में पीएचईडी के अलावें पंचायती राज विभाग, शहरी विकास लगा हुआ है। लेकिन पीएचडी अन्य विभागों को तकनीकी सहयोग दे रही है। ये बातें राज्य सरकार के पीएचईडी व जिला प्रभारी मंत्री बिनोद नारायण झा ने कही। वे स्थानीय परिसदन में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। उन्होने कहा कि शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने की दिशा में पूरे राज्य में कार्य तेजी से चल रहा है। अबतक के सर्वे में राज्य के 13 जिलो में पानी में अर्सेनिक, जबकि 11 जिले में फ्लोराईड की मात्रा पायी गई है। मोतिहारी और मधुबनी को छोड़ अन्य बाकी के जिले में अत्यधिक आयरन की मात्रा पानी में पायी गयी है।  जिसका समाधान वर्ष 2020 तक कर दिया जायेगा। पूरे राज्य में 992 जलमिनार तैयार किए जा चुके है, जिसका लाभ भी इसी वर्ष के अंत से मिलने लगेगा।
34 जलापूर्ति योजनाओं का 2018 तक हो जायेगा निर्माण पूरा पूर्वी चम्पारण के 35 हजार 64 घरो को नल का जल से अच्छादित किया जायेगा। कुल 405 पंचायतो में 34 पंचायतो का काम विभाग खुद अपने जिम्मे रखा है। इसके अलावा 34 जलापूर्ति योजनाओं को भी 2018 तक पूरा कर लिया जायेगा। इस काम के लिए निविदा की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इनमें तुरकौलिया, हरसिद्धि, कोटवा, कल्याणपुर, सुरजपुर, आदापुर को शामिल किया गया है। इसमें 9 करोड़ 36 लाख रूपये खर्चे किए जायेंगे। पूरे जिले में विभाग की ओर से 34 करोड़ की राशि का आवंटन कर दिया गया है। मौके पर भाजपा के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र गुप्ता, लोजपा के धरनीधर मिश्र, पूर्व जिलाध्यक्ष पंडित चन्द्रकिशोर मिश्रा, भाजपा जिला महामंत्री डा. लालबाबू प्रसाद, प्रवक्ता राजा ठाकुर सहित पीएचईडी के अधीक्षण अभियान विनोद यादव सहित कार्यपालक अभियंता उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here