गुड़गांव – प्रद्युम्न हत्याकांड से पर्दा उठना पुलिस के लिए टेढ़ी खीर बनते जा रहा है। यह केस अब धीरे-धीरे एक मर्डर मिस्ट्री बनते जा रहा है। आपको बता दें 8 सितंबर को गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशल स्कूल में हुए इस 7 साल के बच्चे की स्कूल के अंदर हुई हत्या से पूरा देश स्तब्ध है। हालांकि, पुलिस ने इस मामले में स्कूल के बस कंडेक्टर को गिरफ्तार किया है, लेकिन उसने भी कोर्ट के सामने जो बयान दिया है उससे पुलिस के इरादों पर भी सवाल उठने लगा है। ashok kumar in haryana court.

मासूम की हत्या, कोर्ट में पेश हुए तीन आरोपी

प्रद्युम्न हत्याकांड मामले में सोमवार को कोर्ट में अशोक समेत दो और लोगों को कोर्ट के सामने पेश किया गया। जिनमें पहला आरोपी अशोक है जिसे हत्या का मुख्य आरोपी माना जा रहा है। उसके साथ फ्रासिंस और जेएस थॉमस नाम के दो अन्य लोगों को भी कोर्ट में पेश किया गया। जज के सामने जेएस थॉमस ने कहा कि वह स्कूल का एचआर हैड नहीं बल्कि अकाउंटेट है। इस दोनों पर बिना जांच पड़ताल किये अशोक जैसे अपराधी प्रवृत्ति के व्यक्ति को स्कूल का स्टॉफ रखने का आरोप है।

कोर्ट में मुकरा आरोपी, कहा – मैं निर्दोष हूं

हत्‍या के मुख्य आरोपी बस कंडक्‍टर अशोक कुमार ने जज के सामने कहा है कि वह निर्दोष है उसे फंसाया जा रहा है। आपको बता दें कि इसी अशोक ने गिरफ्तारी के समय सबके सामने ये कबूल किया था कि प्रद्युम्न की हत्‍या उसने ही की है, लेकिन वह सोमवार को कोर्ट में जज के सामने मुकर गया। उसने जज के सामने खुद को निर्दोष बताया है। अशोक ने ये भी दावा किया है कि उसे गुनाह कबूल करने के लिए 25 लाख रुपए ऑफर किये गए थे। लेकिन उसने अभी तक उसका नाम नहीं बताया है।

तीनों अरोपियों को कोर्ट ने भेजा जेल

मासूम बच्चे की हत्या के मामले में पुलिस द्वारा गिरफ्तार तीनों आरोपियों को कोर्ट ने 28 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में रखने का आदेश दिया है। फ्रासिंस थॉमस और जेएम थॉमस कि जमानत अर्जी खारिज कर दिया गया है। अब ये तीनों आरोपी 29 सितंबर को कोर्ट में पेश होंगे। वहीं इस मामले में अभी तक मुख्य आरोपी माने जा रहे अशोक ने कोर्ट में अपना बयान बदलकर पुलिस के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है। अशोक ने जज के सामने पेश होते ही खुद को निर्दोष बताते हुए पुलिस पर जबरदस्ती बयान दिलवाने का आरोप लगाया है। अशोक के वकील ने भी मीडिया के सामने कुछ ऐसा ही दावा किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here